यूपी का एक ऐसा मंदिर जहां मां गंगा आती है हनुमान जी को स्नान कराने

1055

यूपी का एक ऐसा मंदिर जहां मां गंगा आती है हनुमान जी को स्नान कराने, चौंकिए मत. यह एक सहीं घटना है, यहां के लोगों की यह मान्यता है कि मां गंगा हर वर्ष अपने जल से हनुमान जी की इस मंदिर में आकर उन्हें स्नान कराती है. लोगों का यह भी कहना है कि पुरानी कथाओं के अनुसार भगवान शिव ने हनुमान जी को यह वरदान दिया था कि मां गंगा कहीं भी रहें लेकिन वो साल में एक बार हनुमान जी के पास जरूर आएंगी.

इस तट पर स्थित है यह मंदिर

आपको बता दे कि हनुमान जी इस मंदिर में लेटे हुए है, जिसके बारे में यह कहा जाता है कि भगवान श्री राम के कहने पर हनुमान जी इस तट पर विश्राम करने पहुंचे थे. अब आप यह सोच रहें होंगे कि आखिर कौन सी वह नदी है जिसके तट पर श्री हनुमान जी विश्राम कर रहें है. वह तट कोई और नहीं गंगा, यमुना और सरस्वती के संगम से बनी नदी संगम नदी की तट है. जिस संगम का निर्माण यूपी के इलाहाबाद में होती है. जहां हर वर्ष कई मेले लगते है.

हर वर्ष हनुमान जी को स्नान कराने आती है मां गंगा

इन दिनों गंगा और यमुना नदी का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है जिससे संगम नदी के सभी घाट जलमग्न हो चुके है. नदियों में बढ़ती इस जलस्तर से वहां के लोग इतने खुश है कि वो अपनी खुशी को शब्दों में बयां तक नहीं कर पा रहें है. लेटे हनुमान मंदिर के महेत नरेंद्र गिरी के अनुसार मां गंगा हर वर्ष हनुमान जी को स्नान कराने आती है, अगर वह किसी वर्ष वह नहीं आ पाती है तो वे उस कमी को अगले वर्ष पूरी कर देती है यानी एक ही साल में कई बार स्नान कर देती है. जैसा कि 2013 में देखने को मिला था.

मां गंगा की कृपा से आती है खुशी

इस मंदिर की यह भी मान्यता है कि मां गंगा द्वारा हनुमान जी को स्नान कराने के बाद इस क्षेत्र में खुशियां आती है. सारे शुभ कार्य निर्विघ्न सफल हो जाते है. जिस वर्ष मां गंगा हनुमान जी को स्नान नहीं कराती है उस वर्ष उस क्षेत्र में सुखा की स्थिति उत्पन्न होती है एवं शुभ कार्य में बाधा पड़ने लगते है. जिसे लोग हनुमान जी की शक्ति एवं मां गंगा की कृपा मानते है. आपको बता दे कि मां गंगा कि इस कृपा को पाने के लिए वहां के लोग हर साल मां गंगा से बाढ़ आने की प्रार्थना करते है.

SHARE